floods in kerala- केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद को आगे आये, बडौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक के कर्मचारी


201808flood in kerala baroda up gramin bank gramin bank news rrb news donation.html
उत्तर प्रदेश के राय बरेली जिले में स्थित तथा Bank of Baroda प्रायोजित, Baroda UP Gramin Bank के सभी 5021 अधिकारी व कर्मचारी स्वेचछा से अपना एक दिन का वेतन केरल बाढ़ पीड़ितों  के लिए दान करेंगे. आपको बता दें, इस संबध में बैंक की यूनियन AIRRBEA के द्वारा दिनांक 19-08-2018 केरल बाढ़ पीड़ितों की आर्थिक मदद के लिए बैंक प्रबंधन को एक पत्र लिखा गया था. जिसमें यूनियन ने केरल बाढ़ पीड़ितों की आर्थिक मदद के वास्ते सभी कर्मचारियों के एक दिन के उपार्जित अवकाश को नामें कर, पैसा "मुख्यमंत्री रहत कोष केरल" भिजवाने का आग्रह किया था. जिस पर तत्काल सकारात्मक निर्यण लेते हुए बैंक प्रबंधन ने दिनांक 21-08-2018 को कर्मचारियों की सहमति से एक दिन के उपार्जित अवकाश (PRIVILEGE LEAVE) को कैश करके "केरल मुख्यमंत्री राहत कोष" में जमा करवाने से सम्बंधित सर्कुलर जारी किया था.  

केरल में आई भयकर बाढ़ से अब तक 373 लोगों की जान जा चुकी है. तथा अब तक कुल तीन लाख लोगों को अपने घरों से विस्थापित होना पड़ा है. केरल के सभी जिले पिछले काफी समय से हाई अलर्ट पर हैं. केंद्र सरकार की सभी एजेंसिया लगातार 24*7 केरल में डटी हुई हैं. सरकार के अधिकारिक आकड़ो के अनुसार प्रदेश की 1/6 आबादी इस भयकर बाढ़ की त्रिसादी झेल रही है. पिछले 26 सालों में पहली बार भारी बर्षा के कारण राज्य का इद्दुक्की बाँध के सभी पाँचो द्वारों को खोलना पड़ा है. राज्य के पर्वतीय इलाकों का संपर्क पूरी तरह से राज्य के अन्य हिस्सों से कट गया है. 8 अगस्त 2018 से शुरू हुई भयंकर बारिश के कारण राज्य के सभी बाँध अगले 24 घंटे में ही पूरी तरह फुल हो गये थे. जिसके कारण मजबूरन राज्य के अधिकतर बाँधो के द्वारों को खोलना पड़ा. जिसकी वजह से राज्य भयंकर बाढ़ की चपेट में आ गया.
यह भी पढ़े.. 

रहत एवं बचाओ कार्य

जहाँ एक तरफ राज्य में बाढ़ से हर तरफ त्राहि-त्राहि मची हुई थी, वही दूसरी तरफ सरकार ने NDRF, सेना समेत सभी सरकारी एजेंसियो को लगा दिया था. सरकार ने इस पूरे अभियान को, "ऑपरेशन मदद" नाम दिया.  NDRF, नेवी व एयर फ़ोर्स के यह जवान मुसीबत में फंसे लोगो के लिए किसी देवदूत से कम नहीं थे. यह जवान सूरज की पहली किरण के साथ ही अपने काम में लग जाते और सूरज की आखिरी किरण तक लोगो को बचाने में लगे रहते. आकड़ो के मुताबिक इन जवानों ने 3 लाख से अधिक लोगो को रेश्क्यु करके सुरक्षित स्थानों तक पहुचाया है.

हर तरफ पानी-पानी- फिर भी हर कोई प्यासा !

राज्य में आई भयकर बाढ़ के कारण जहाँ एक तरफ पूरा राज्य पानी-पानी हो गया. वही दूसरी तरफ राज्य के लोग पीने के पानी की एक-2 बूंद के लिए तरस गए. क्योकि हर तरफ बाढ़ का पानी होने की वजह से पीने के पानी के सभी श्रोत खत्म हो गये थे. ऐसे में तेलंगाना के करुनाकर रेड्डी इन लोगो की प्यास बुझाने के लिए आगे आये. वो बाढ़ के पानी को ही फ़िल्टर करके उसे पीने योग्य बनाते. केरल सरकार ने भी बहुत सारे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को बाढ़ प्रभावित इलाकों में भेजा है. जिससे स्थिति में काफी सुधार आया है.

एक नज़र - बडौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक

बडौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक उत्तर प्रदेश के 12 शेत्रिये कार्यालयों सहित 14 जिलों इलाहबाद, बरेली, पीलीभीत, अमेठी, शाहजहांपुर, कानपूर नगर, कानपूर देहात, कौशाम्बी, फैजाबाद, सुल्तानपुर, राय-बरेली, प्रतापगढ़, अम्बेडकर नगर तथा फतेहपुर में कार्य कर रहा है. 31 मार्च 2017 प्रदेश में इसकी कुल 924 शाखाएं थी. 
31 मार्च 2017 को 1 करोड़ 37 लाख 40 हज़ार दो सौ इक्कय्सी ग्राहकों के साथ बैंक का कुल डिपाजिट 13105 करोड़ रूपए है. 31 मार्च 2017 को बैंक में कुल 4176 लोग कार्य कर  रहें थे. जिनमे इस साल जॉइन किये कुल 845 लोगो को और जोड़ दिया जाए तो  यह संख्या 5000 से अधिक हो जाती है. आपको बता देंबडौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक के कर्मचारी पहले भी इस तरह के सोशल काम में आगे आते रहें हैं.
यह भी पढ़े.. 


Previous
Next Post »

1 comments:

Click here for comments
August 26, 2018 at 8:46 AM × This comment has been removed by the author.
avatar