nandan nilekani's statement-आधार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर क्या कहा, UIDAI के पहले चैयरमैन नंदन नीलेकणि ने.


uidai-ranjana-sonawane-first-aadhar-card-holder-in-india-first-aadhar-card-holder-name-uidai-full-form-uidai-full-form-in-hindi-nandan-nilekani-statement-first-aadhar-card-holder-in-india

आधार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर क्या कहा, UIDAI के पहले चैयरमैन नंदन नीलेकणि ने.

UIDAI (Unique Identification Authority Of India)  के पहले चैयरमैन और इंफोसिस के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणि ने aadhar पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को आधार के पक्ष में ऐतिहासिक फैसला बताया है। आधार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, नंदन नीलेकणि ने एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने कहा है, " aadhar एक विशिष्ट पहचान परियोजना है, आधार के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का फैसला ऐतिहासिक है। जो देश के विकास से जुड़े लक्ष्यों के लिए महत्वपूर्ण है।" 



First Chairman Of UIDAI (Unique Identification Authority Of India).
आपको बता दें, नंदन नीलेकणि आधार परियोजना के प्रमुख सूत्रधार और UIDAI (Unique Identification Authority Of India) के पहले चैयरमैन हैं। वो 2009 से 2014 तक लगातार UIDAI (Unique Identification Authority Of India)  के चैयरमैन रह चुके हैं। उन्हें देश के सबसे बड़े टेक्नोक्रेट का दर्जा हासिल हैं। इससे पहले नीलेकणि देश की प्रमुख सॉफ्टवेयर कंपनी इंफोसिस से जुड़े रहें हैं। वो इंफोसिस के सह-संस्थापक हैं. उन्होंने कहा है कि वर्तमान सरकार ने मूल आधार परियोजना में कई बदलाव किए हैं।



History Of UIDAI (Unique Identification Authority Of India)
भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (Unique Identification Authority Of India) की स्थापना 28 जनवरी 2009 को हुई है. इसका मुख्यालय भारती भवन, कनाट सर्कस, नई दिल्ली में स्थित है। इसके क्षेत्रीय कार्यालय चंडीगढ़, दिल्ली, बंगलुरु, लखनऊ, हैदराबाद, मुम्बई, राँची व गुवाहाटी में स्थित हैं. तथा एक तकनीकी केंद्र बंगलुरु में स्थित है.

First Aadhar Card In India

29 सितंबर 2010 को UIDAI (Unique Identification Authority Of India)  ने पहला आधार कार्ड जारी किया था। देश मे पहली बार किसी राष्ट्रीय पहचान पत्र के लिए बॉयोमेट्रिक नमूने उंगलियों के निशान, आँखों का रेटिना इत्यादि लिए गए थे। 
uidai-ranjana sonawane first aadhar card holder in india first aadhar card holder name uidai full form uidai full form in hindi nandan nilekani's statement first aadhar card holder in india
Ranjana sonawane 

देश में पहला बॉयोमेट्रिक बेस्ड राष्ट्रीय पहचान पत्र आधार पाने वाली महिला का नाम रंजना सोनेवने (Ranjana Sonawane) है। बैसे तो रंजना की ज़िंदगी बहुत ही सामान्य है। बेहद गरीब रंजना मजदूरी करके अपना घर चलाती हैं. लेकिन उनकी एक विशिष्ट पहचान है. देश के पहले आधार-धारक की पहचान।

First Aadhar Village In India.

2010 में जब तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने आधार परियोजना की शुरुआत के लिए उत्तर महाराष्ट्र के नंदुरबार जिले के तेम्भाली गांव का चयन किया. तब तक रंजना को भी नही पता था, की वो देश की पहली आधार कार्ड धारक होगी। 

यह भी पढ़े..
Previous
Next Post »