पेंशन आर्डर जारी करने वाला देश का पहला ग्रामीण बैंक बना सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक

gramin-bank-news-airrbea-rrb-pension-gramin-bank-pension-rrb-news-grameen-bank-grameen-bank-india


      पंजाब नेशनल बैंक द्वारा प्रायोजित व हरियाणा के रोहतक स्थित सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक, पेंशन आर्डर जारी करने वाली देश की पहली ग्रामीण  बैंक बन गई है. ज्ञात हो ग्रामीण बैंक कर्मी लम्बे समय से पेंशन के लिए लड़ रहें हैं. इसी क्रम में 25 अप्रैल 2018 को आये सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार 25 अप्रैल 2018 तक के सभी कर्मचारियों को राष्ट्रीयकृत बैंको के समान बैंकिंग पेंशन स्कीम 1993 (पुरानी पेंशन ) के तहत कवर किया जाना था. लेकिन सरकार ने राष्ट्रीयकृत बैंको के दबाव में आकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश को भी आधा-अधूरा करके लागू कर दिया है. जिसका ग्रामीण बैंक के युवा कर्मचारी पूरी तरह से विरोध कर रहें हैं. ग्रामीण बैंको की सबसे बड़ी यूनियन AIRRBEA भी इस बात को लेकर आश्वस्त है. की सुप्रीम कोर्ट के आदेश की डेट तक के सभी कर्मचारियों को बैंकिंग पेंशन स्कीम 1993 (पुरानी पेंशन) के तहत कवर किया जाना चाहिए। लेकिन सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जिया उड़ाते हुए तथा मनमाने तरीके से सुप्रीम कोर्ट के आदेश को परिभाषित करके 31 मार्च 2010 के बाद आये युवा स्टाफ को पुरानी पेंशन के दायरे से बाहर कर दिया।  उनको मनमाने तरीके से न्यू पेंशन स्कीम से कवर किया गया है. ज्ञात हो न्यू पेंशन स्कीम का पुरे देश में जोरदार विरोध हो रहा है. और  कोई भी इसे लेने को तैयार नहीं है. 


आदेश के प्रमुख बिंदु।
1. 1 सितम्बर 1987 व् 31 मार्च 2010 के बीच बैंकिंग सेवा में आये सभी कर्मचारी बैंकिंग पेंशन स्कीम 1993(पुरानी पेंशन ) के लिए पात्र होंगे।

2. 31 मार्च 2010 व् 1 अप्रैल 2018 के बीच बैंकिंग सेवा में आये सभी कर्मचारियों के पास बैंकिंग पेंशन  स्कीम 1995(PF जो वर्तमान में लागू है ) तथा न्यू पेंशन स्कीम में से किसी एक को चुनने का  बिकल्प होगा

3. 1 अप्रैल 2018 के बाद बैंकिंग सेवा में आये सभी कर्मचारी न्यू पेंशन स्कीम से कवर होंगे।

4. ऐसे कर्मचारी जो 1 सितम्बर 1987 व् 31 मार्च 2010 के बीच बैंकिंग सेवा में आये, लेकिन 31 मार्च 2018 से पहले बैंक सेवा से सेवानिवृत्त हो गए, बैंकिंग पेंशन स्कीम 1993(पुरानी पेंशन ) के लिए पात्र होंगे

5. ऐसे कर्मचारी जो 1 सितम्बर 1987 व् 31 मार्च 2010 के बीच बैंकिंग सेवा में आये, तथा उनकी मृत्यु 31 मार्च 2018 से पहले हो गई, उनके परिवार भी कुटुंब पेंशन के लिए पात्र होंगे।

6. ऐसे कर्मचारी जिन्होंने कम से कम 10 साल बैंकिंग सेवा को दिए हैं, पेंशन के लिए पात्र होगा।

7. कम से कम 20 साल की सर्विस के बाद  स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति लेने वाले, पेंशन के लिए हक़दार होंगे।



सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक ने जो आदेश जारी किया है, उससे पेंशन को लेकर अब तक चल रहे सभी कयासों को विराम लग गया है. इस आदेश के बाद यह साफ़ हो गया है , युवा स्टाफ के साथ सरकार ने जबरदस्त विश्वासघात किया है. इस आदेश के मुताबिक पुरानी पेंशन के लिए 31 मार्च 2010 से पहले बैंकिंग सेवा में आये कर्मचारी ही पात्र होंगे। बाकि शेष कर्मचारी राष्ट्रीयकृत बैंको के समान न्यू पेंशन स्कीम से कवर किये जायँगे।

यह भी पढ़े..

Previous
Next Post »