Gramin Banks में भी जल्द लागू होगी, अनुकम्पा नियुक्ति, केंद्र सरकार पर चला हाई कोर्ट का डंडा..


gramin bank news rrb news anukampa niyukti in bank grameena bank अनुकम्पा नियुक्ति gramin bank up gramin bank Baroda UP Gramin BankGramin Banks में भी जल्द लागू होगी, अनुकम्पा नियुक्ति,
केंद्र सरकार पर चला हाई कोर्ट का डंडा..

RRBNEWS:- देशभर के ग्रामीण बैंकों में हाई कोर्ट के आदेश के बावजूद अनुकंपा नियुक्ति लागु ना करने के लिए हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को कड़ी फटकार लगाई है। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अवमानना याचिका पर सुनवाई करते हुए बैंकिंग सचिव को कड़ी फटकार लगाते हुए, उनसे पूछा है. क्यों ना कोर्ट के आदेशों अवमानना का दोषी मानते हुए आप के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करते हुए आपको दंडित किया जाए।

आपको बता दें, बड़ौदा Baroda UP Gramin Bank के कर्मचारी मनमोहन प्रसाद की मृत्यु 12 अगस्त 2014 को हो गई थी. मनमोहन प्रसाद के पुत्र जितेंद्र कुमार ने  बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक से अपने पिता की जगह अनुकंपा नियुक्ति की मांग की थी।

लेकिन ग्रामीण बैंकों में ऐसी कोई व्यवस्था ना होने के कारण, बैंक ने जितेंद्र कुमार को नौकरी देने से इनकार कर दिया था. इस पर जितेंद्र ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ ब्रांच में, बैंक तथा भारत सरकार को पार्टी बनाते हुए केस दायर किया था। जिस पर सुनवाई करते हुए लखनऊ हाई कोर्ट ने भारत सरकार को आदेश दिया था. कि तत्काल प्रभाव से 3 महीने के भीतर ग्रामीण बैंकों में भी अनुकंपा नियुक्ति लागू की जाए तथा जितेंद्र को उनके पिता की जगह नौकरी दी जाए।


यह भी पढ़े.. 
3.नोटबन्दी और GST को लेकर यह कहा रघुराम राजन ने..
4.नोटबंदी फेलठीकरा बैंक कर्मियों पर!
5. मोदी सरकार की नीतियों ने बर्बाद किये सरकारी बैंक- रवि वेंकटेश 


राष्ट्रीय कृत बैंकों में है 2014 से अनुकंपा नियुक्ति का प्रावधान
आपको बता दें राष्ट्रीय कृत बैंकों में 2014 से ही अनुकंपा नियुक्ति का प्रावधान है. इसके बावजूद अब तक ग्रामीण बैंकों में अनुकंपा नियुक्ति लागू नहीं हो पाई है. यह भारत सरकार का ग्रामीण बैंकों के साथ सौतेला व्यवहार का सबसे बड़ा उदाहरण है. ग्रामीण बैंकों में अनुकंपा नियुक्ति ना होने की वजह से, हजारों परिवार रोजी रोटी के लिए भटक रहे हैं।

कोर्ट के आदेश के की भी अनदेखी..

कोर्ट ने 31 मई 2018 को ही भारत सरकार के वित्त सचिव को 3 महीने के भीतर ग्रामीण बैंकों में अनुकंपा नियुक्ति लागू करने का आदेश दिया था. लेकिन 6 महीने बाद भी वित्त सचिव ने इसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई. प्रार्थी जितेंद्र ने वित्त सचिव को एक रिमाइंडर लेटर भी भेजा. जिसका उन्हें कोई जवाब नहीं मिला.


लंबे इंतजार के बाद जितेंद्र को मजबूरन दोबारा कोर्ट की शरण में जाना पड़ा। अब हाईकोर्ट ने वित्त सचिव की फटकार लगाते हुए, उनसे पूछा है. क्यों ना आपको जानबूझकर कोर्ट के आदेश की अवमानना का दोषी मानते हुए. आप के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.

यह भी पढ़े.. 
2. क्या हैनेशनल पेंशन सिस्टम ??

Previous
Next Post »

1 comments:

Click here for comments
Prashant pal
admin
December 25, 2018 at 8:54 PM ×

effective date kya hogi compassionante ki in rrbs??

Congrats bro Prashant pal you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar