पढ़े..! 200 और 2000 के Soiled Note को बदलने से जुड़े नए नियम..!!

पढ़े..! 200 और 2000 के Soiled Note को बदलने से जुड़े नए नियम..!!
rbi-announces-new-rules-for-exchange-of-damaged-rs-2000-and-200-notes


Highlights.
1- सभी पुराने नोटों की तरह 2000 और 200 के कटे-फटे और soiled नोट बैंक से किसी भी वर्किंग डे में बदले जा सकेंगे.
2- 2000 के नोट का 100% रिफंड के लिए कम से कम 88cm हिस्सा होना जरूरी, 50% रिफंड के लिए कम से कम 44cm हिस्सा होना जरूरी।
3- 200 के नोट के 100% रिफंड के लिए 78cm और 50% रिफंड के लिए 39cm हिस्सा होना जरूरी।
4- एकदिन में अधिकतम 5000 रुपये की वैल्यू के बराबर नोट ही बदले जा सकतें हैं।
5. नोट के एक से ज्यादा हिस्सो में होने पर सभी हिस्से एक ही नोट के होने चाहिए।

RRB News :- जब से 2000 और 200 सहित महात्मा गांधी सीरीज के नए नोट सरकार द्वारा जारी किए गए हैं. तभी से इन नोटों को बदलने से जुड़े नियमों को लेकर अनिश्चितता बनी हुई थी।

लेकिन अब आरबीआई ने Reserve Bank of India (Note Refund) Rules, 2009 में बदलाव करते हुए 200 और 2000 के नोटों से जुड़े नए नियमों से जुड़ा सर्कुलर जारी कर दिया है. जिसके मुताबिक सभी पुराने नोटों की भांति 2000 और 200 के नए नोटों को भी किसी भी बैंक ब्रांच की किसी भी शाखा से बदला जा सकता है। 


यह भी पढ़े.. 

अगर आपके पास 200 या 2000 का कोई नोट दो टुकड़ों में अथवा गंदा, फटा हुआ, लिखा हुआ है। तो आपको इसके लिए घबराने की जरूरत नहीं है। आप अपनी किसी भी नजदीकी शाखा मैं जाकर इन नोटों की पूरी वैल्यू बैंक से ले सकते हैं। इसमें भी आरबीआई ने कुछ नियम तय किए हैं।

आपको बता दें पुरानी महात्मा गांधी सीरीज के 5,10, 20, 50, 100, 500, 1000, 5000 10000 तक के नोटों के लिए आरबीआई ने पहले से ही नोट एक्सचेंज पॉलिसी बना रखी है। 

लेकिन नवंबर 2016 में जारी किए गए 2000 के नए नोट और सितंबर 2017 में जारी किए गए 200 के नए नोटों के साइज में बदलाव होने की वजह से वह नोट RBI की पुरानी नोट एक्सचेंज पॉलिसी के अंतर्गत नहीं आते थे। इसीलिए अब तक बैंकों के पास इन नोटों को बदलने से जुड़े कोई भी नियम नहीं थे।
यह भी पढ़े.. 

उपभोक्ताओं की शिकायतों पर हाल ही में RBI ने भारत सरकार से इस संबंध में नियम बनाने के लिए कहा थाजिसके बाद भारत सरकार की ओर से 2000 और 200 के कटे-फटे और soiled नोटों को बदलने से जुड़े नियम बनाए गए जिनको RBI ने अपने गैजेट सर्कुलर में प्रकाशित किया है।

2000 के कटे-फ़टे soiled नोट को बदलने का नियम
अगर दो हजार के किसी नोट का 80% यानी कुल 88 सेंटीमीटर हिस्सा किसी व्यक्ति के पास सुरक्षित है। तो वह बैंक से 100% रिफंड का हकदार होगा।
लेकिन अगर उपभोक्ता के पास किसी नोट का सिर्फ 44 सेंटीमीटर यानी 40 परसेंट हिस्सा ही है। तो उसे सिर्फ 50% राशि यानी ₹1000 ही मिलेंगे।
इसमें नोट का एसेंशियल हिस्सा जैसे कि नंबर सिक्योरिटी बार इत्यादि का होना जरूरी है।
अगर नोट दो अथवा दो से अधिक टुकड़ों में है तब भी आप हंड्रेड परसेंट राशि के हकदार होंगे बशर्ते वे सभी टुकड़े एक ही नोट के हो.

200 के नोट से जुड़े नए नियम
अगर आपके पास 200 का कोई फटा हुआ नोट आ गया है। तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है. आपको बस अपनी नजदीकी बैंक की शाखा में उस नोट को लेकर जाना है. और बैंक आपको उसके बराबर धनराशि प्रदान कर देगा. लेकिन इसके लिए आरबीआई ने कुछ नियम भी तय किए हैं। 


200 के फटे हुए नोट के बदले संपूर्ण धनराशि के लिए आपके पास नोट का कम से कम 78 सेंटीमीटर यानी 80% हिस्सा होना आवश्यक है। 
अगर आपके पास 80% से कम हिस्सा है, तो आपको बैंक सिर्फ 50% राशि ही देगा। 50% राशि के लिए भी आपके पास कम से कम 39 स्क्वायर सेंटीमीटर अर्थात 40% हिस्सा होना अनिवार्य है। अगर आपके पास नोट के 40% हिस्से से कम भाग है. तो आपको बैंक कोई भी राशि नहीं देगा। 
 इसके अलावा नोट एक से ज्यादा हिस्सों में है लेकिन सभी इससे एक ही नोट के हैं तो बैंक आपको 100% रिफंड देगा लेकिन नोट का नंबर वाला हिस्सा होना अनिवार्य है.इसके अतिरिक्त एक ग्राहक 1 दिन में अधिकतम ₹5000 की वैल्यू और अधिकतम 20 नोट ही बदल सकता है। अगर कस्टमर 5000 से अधिक की धनराशि के खराब नोटों को बदलना चाहता है। तो बैंक कस्टमर से नियमानुसार चार्ज वसूल सकता है। और बैंक नोटों को चेक करने के बाद पैसे अगले दिन कस्टमर के खाते में क्रेडिट कर सकता है.


यह भी पढ़े.. 


rbi announces new rules for exchange of damaged rs 2000 and 200 notes hindi


Previous
Next Post »